Ten News Live

नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ऑटोचालकों के स ाथ हो रहा अन्याय और आरपीएफ की गुंडागर्दी।*

प्रेस विज्ञप्ति
स्वराज इंडिया
30 नवम्बर, 2016

*• नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ऑटोचालकों के साथ हो रहा अन्याय और आरपीएफ की गुंडागर्दी।*

*• ठहरने के लिए अपर्याप्त स्थान, नाजायज़ चालान और पुलिस के डंडे से परेशान ड्राईवरों को स्वराज इंडिया का मिला साथ।*

*• सैकड़ों ऑटोचालकों के साथ स्वराज इंडिया का विरोध प्रदर्शन।*

*• अनुपम ने रेलवे निदेशक दिवाकर झा से मिलकर रखी तीन मांगे।*

नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पूरी दिल्ली में आने जाने वाले लोगों के लिए सबसे बड़ा जंक्शन है। लेकिन बेहद आश्चर्यजनक और अफ़सोस की बात है कि इतना महत्वपूर्ण आवागमन स्थल होने के बाद भी नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ऑटोचालकों के लिए अधिकृत स्टैंड नहीं है।

इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस और आरपीएफ के लोग हर वक़्त इन ग़रीब ऑटो वालों को परेशान करते हैं और नाजायज़ चालान काटते रहते हैं। अपनी रोज़ी रोटी और परिवार का पेट पालने के लिए दिन रात मेहनत करने वाले ग़रीब ऑटोचालकों के घोर अन्याय होना आम बात हो गयी है।

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम ने रेलवे निदेशक श्री दिवाकर झा से मुलाक़ात करके ऑटोवालों की पीड़ा उनके समक्ष रखी और बताया कि स्वराज इंडिया ऑटोवालों के ख़िलाफ़ हो रहे हर अन्याय के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता रहा है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आने जाने वाले ऑटोचालकों की तरफ से अनुपम ने तीन मांगे रखीं:

*1. ऑटोचालकों के लिए स्टेशन के बाहर दो लेन दिया जाए और कम से कम 30 मिनट हॉल्ट करने का समय हो। वर्तमान में सिर्फ एक लेन होने के कारण समस्या होती है और जाम लगता है।*

*2. चालकों को अधिकृत ऑटो स्टैंड दिया जाए ताकि कोई भी रेलवे अधिकारी या पुलिसवाला इन्हें बेवजह परेशान ना करे।*

*3. ऑटोचालकों के ख़िलाफ़ आरपीएफ द्वारा आये दिन काटे जा रहे नाजायज़ चालान और डंडे की ज़ोर पर रोक लगे।*

नयी दिल्ली रेलवे निदेशक का कहना था कि ये अत्यंत गंभीर विषय है और वो स्वयं पिछले कुछ दिनों से समस्या के समाधान पर काम कर रहे हैं। अधिकारी ने इसके निजात के लिए रेलवे की तरफ से चल रहे काम की जानकारी दी और भरोसा दिलाया कि ग़रीब ऑटोचालकों के समस्याओं का जल्द से जल्द निबटारा करेंगे। अनुपम ने कहा कि स्वराज इंडिया 5 दिसंबर को ऑटोचालकों के मुद्दों पर दिल्ली में हल्ला बोल कर रहा है जहाँ नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन की समस्या को भी उठाया जाएगा।

*• नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ऑटोचालकों के साथ हो रहा अन्याय और आरपीएफ की गुंडागर्दी।*

*• ठहरने के लिए अपर्याप्त स्थान, नाजायज़ चालान और पुलिस के डंडे से परेशान ड्राईवरों को स्वराज इंडिया का मिला साथ।*

*• सैकड़ों ऑटोचालकों के साथ स्वराज इंडिया का विरोध प्रदर्शन।*

*• अनुपम ने रेलवे निदेशक दिवाकर झा से मिलकर रखी तीन मांगे।*

नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पूरी दिल्ली में आने जाने वाले लोगों के लिए सबसे बड़ा जंक्शन है। लेकिन बेहद आश्चर्यजनक और अफ़सोस की बात है कि इतना महत्वपूर्ण आवागमन स्थल होने के बाद भी नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ऑटोचालकों के लिए अधिकृत स्टैंड नहीं है।

इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस और आरपीएफ के लोग हर वक़्त इन ग़रीब ऑटो वालों को परेशान करते हैं और नाजायज़ चालान काटते रहते हैं। अपनी रोज़ी रोटी और परिवार का पेट पालने के लिए दिन रात मेहनत करने वाले ग़रीब ऑटोचालकों के घोर अन्याय होना आम बात हो गयी है।

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम ने रेलवे निदेशक श्री दिवाकर झा से मुलाक़ात करके ऑटोवालों की पीड़ा उनके समक्ष रखी और बताया कि स्वराज इंडिया ऑटोवालों के ख़िलाफ़ हो रहे हर अन्याय के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता रहा है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आने जाने वाले ऑटोचालकों की तरफ से अनुपम ने तीन मांगे रखीं:

*1. ऑटोचालकों के लिए स्टेशन के बाहर दो लेन दिया जाए और कम से कम 30 मिनट हॉल्ट करने का समय हो। वर्तमान में सिर्फ एक लेन होने के कारण समस्या होती है और जाम लगता है।*

*2. चालकों को अधिकृत ऑटो स्टैंड दिया जाए ताकि कोई भी रेलवे अधिकारी या पुलिसवाला इन्हें बेवजह परेशान ना करे।*

*3. ऑटोचालकों के ख़िलाफ़ आरपीएफ द्वारा आये दिन काटे जा रहे नाजायज़ चालान और डंडे की ज़ोर पर रोक लगे।*

नयी दिल्ली रेलवे निदेशक का कहना था कि ये अत्यंत गंभीर विषय है और वो स्वयं पिछले कुछ दिनों से समस्या के समाधान पर काम कर रहे हैं। अधिकारी ने इसके निजात के लिए रेलवे की तरफ से चल रहे काम की जानकारी दी और भरोसा दिलाया कि ग़रीब ऑटोचालकों के समस्याओं का जल्द से जल्द निबटारा करेंगे। अनुपम ने कहा कि स्वराज इंडिया 5 दिसंबर को ऑटोचालकों के मुद्दों पर दिल्ली में हल्ला बोल कर रहा है जहाँ नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन की समस्या को भी उठाया जाएगा।