Ten News Live

दिल्ली के बख्तावरपुर गाँव में नौ ATM बूथ किस ी में केश नही , सात में तो नोटबन्दी के बाद कैश आ या ही नही । एटीएम गार्ड्स की बाइट्स ।*

*दिल्ली के बख्तावरपुर गाँव में नौ ATM बूथ किसी में केश नही , सात में तो नोटबन्दी के बाद कैश आया ही नही । एटीएम गार्ड्स की बाइट्स ।*

*बड़ी तादाद में ATM नोटबन्दी के वक्त से ही बन्द .. ATM बूथों में तैनात गार्ड्स भी लोगो की गालियां सुनकर परेशान* ..

स्टोरी —- नोटबन्दी के बाद लोगो को एटीएम मशीनों से आश थी पर आजकल जिस भी एटीएम बूथ पर जाओ या तो एटीएम मशीन खराब या कैश नही का नोटिश मिलता है .. बैंको का ढीला रवेया देखिये की ऐसे एटीएम काफी तादाद में है जो महीनों से खराब है .. इन दिनों ऐसे हालात में भी एटीएम मशीने रिपेयर नही की गई .. स्थिति का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि दिल्ली के अलीपुर में बख्तावरपुर गाँव में स्थिति जाननी चाही तो बैंको की पोल खुल गई .. यहां बख्तावरपुर के आसपास कई कालोनिया और छोटे छोटे गाँव भी है .. गाँव में नौ ATM बूथ है आज एक में भी केश नहीं मिला ऊपर से बड़ी बात ये कि इन नौ में से सात ATM ऐसे है जो नोटबन्दी के बाद चले ही नही . सातो ATM में कोई खराब तो किसी के कैसेट चेंज नही किये और ये शुरू ही नही हुए .. यहां SBI और कॉर्पोरेशन के दो ऐसे ATM लोगो ने बताये जिनमे कभी कभार पैसे आते है बाकियो में नही .. ये देखिये PNB का एटीएम एक महीने से बन्द है और यहां का गार्ड परेशान है .. गार्ड ने बताया एक बार कैसेट चेंज करने आये चेंज नही हुए फिर आज तक ATM में पैसे आये ही नही पूरा एक महीना हो गया ..

*बाइट — PNB ATM बूथ गार्ड —- टेक्स्ट –प्रॉब्लम ये है जब से नॉट बदलने का सिस्टम शुरू हुआ . इसमें 500 और हजार का नॉट डलता था .. सौ का नॉट इसमें कभी नही डला . इसका सिस्टम चेंज करने आये थे चेंज नही हुआ वो कहने लगे दूसरा मिस्त्री आएगा कोई नही आया .. एक महीने से ऐसे ही बन्द है .. सुपर वाइजर आता है विजिट करके चला जाता ह*ै ..

..

वी ओ —
यही हाल यहां के बैंक और बड़ोदा का है यहां गार्ड साहब इस एटीएम की रखवाली पर है और बता रहे है बीस दिन से पैसे नही आये .. लोग उससे पूछने आते है पर उन्हें पता ही नही क्या बताये ..

*बाइट — गार्ड — बैंक ऑफ़ बड़ौदा एटीएम बूथ ( पहचान — जैकेट और सिर पर टोपी पहने ) , टेक्स्ट — पन्द्रह दिन से पैसे नही है .. मशीन ठीक है .. पन्द्रह बीस दिन हो गए .. लोग आते है कब आएंगे कब आएंगे हमे क्या पता* ..

..

वी ओ —
ये है यही बख्तावरपुर का आईसीआईसीआई बैंक का एटीएम यहां का गार्ड काफी परेशान है .. इसकी जिम्मेदारी एटीएम की सेफ्टी की है इनका कहना है यहां एटीएम मशीन के कैसेट चेंज नही हुए न पैसे आ रहे है लोग आकर झगड़ा करते है गालिया देकर जाते है ..

*बाइट — गार्ड एटीएम बूथ ICICI – ( पहचान –सफेद स्वेटर पहने ) टेक्स्ट — इसमें प्रॉब्लम है एक महीने से केश नही .. इसमें बदला नही .. लोग गाली देकर चले जाते है। . मेरा icic का एटीएम है .. पहले भी बन्द पड़ा था कोई इंजीनियर नही आया ठीक करने* ..

वी ओ —
यही हाल यहां के यूनियन बैंक के एटीएम का है यहां भी नोटबन्दी के बाद इस एटीएम को नोटदर्शन नही हुए ..

*बाइट — राजीव एटीएम के पड़ोसी यूनियन बैंक एटीएम बूथ ( पहचान — चेक की शर्ट और नाम बाइट में बोला भी है . ) टेक्स्ट — जब नोटबन्दी हुई है कोई पैसा नही आया हम पड़ोस में रहते है लोग हमे भी आकर जगाते है .. कब आएगा पैसा* ..

वी ओ —

कुल मिलाकर यदि एटीएम भी इस वक्त सही चलते तो लोगो को इतनी दिक्कते नही होती .. लेकिन असलियत में बैंक अपने एटीएम बूथों को सही से नही चला पा रहे है और यही एक वजह है कि बैंको में इतनी ज्यादा भीड़ है ..

*अनिल अत्री दिल्ली* ..

MAXIMUM TOP UP (RECHARGE) LIMIT OF SMART CARD TO BE INCREASED TO Rs. 2000/- FROM TOMORROW, WILL REMAIN EFFECTIVE TILL 31st DECEMBER 2016

MAXIMUM TOP UP (RECHARGE) LIMIT OF SMART CARD TO BE INCREASED TO Rs. 2000/- FROM TOMORROW, WILL REMAIN EFFECTIVE TILL 31st DECEMBER 2016
The Delhi Metro Rail Corporation has decided to increase the maximum top up limit of its Smart Card by Rs. 1000/- to Rs. 2000/- from tomorrow i.e, 11th December 2016. The increased top up limit will remain effective till 31st December 2016 only.
The decision to increase the maximum top up limit has been taken with a view to facilitate the commuters who might come with new currency notes of Rs. 2000/- to top up their smart cards. With the present maximum top up ceiling of Rs. 1000/- , it would have created problem in the availability of adequate currency notes for passengers and currency to be returned to such passengers, specially in view of shortage of new Rs 500 currency notes.

WORST CASH SCENARIOS IN NEW DELHI , WHAT COULD BE IN BHARAT @narendramodi @officeofrg

*दिल्ली के बख्तावरपुर गाँव में नौ ATM बूथ किसी में केश नही , सात में तो नोटबन्दी के बाद कैश आया ही नही । एटीएम गार्ड्स की बाइट्स ।*

*बड़ी तादाद में ATM नोटबन्दी के वक्त से ही बन्द .. ATM बूथों में तैनात गार्ड्स भी लोगो की गालियां सुनकर परेशान* ..

नोटबन्दी के बाद लोगो को एटीएम मशीनों से आश थी पर आजकल जिस भी एटीएम बूथ पर जाओ या तो एटीएम मशीन खराब या कैश नही का नोटिश मिलता है .. बैंको का ढीला रवेया देखिये की ऐसे एटीएम काफी तादाद में है जो महीनों से खराब है .. इन दिनों ऐसे हालात में भी एटीएम मशीने रिपेयर नही की गई .. स्थिति का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि दिल्ली के अलीपुर में बख्तावरपुर गाँव में स्थिति जाननी चाही तो बैंको की पोल खुल गई .. यहां बख्तावरपुर के आसपास कई कालोनिया और छोटे छोटे गाँव भी है .. गाँव में नौ ATM बूथ है आज एक में भी केश नहीं मिला ऊपर से बड़ी बात ये कि इन नौ में से सात ATM ऐसे है जो नोटबन्दी के बाद चले ही नही . सातो ATM में कोई खराब तो किसी के कैसेट चेंज नही किये और ये शुरू ही नही हुए .. यहां SBI और कॉर्पोरेशन के दो ऐसे ATM लोगो ने बताये जिनमे कभी कभार पैसे आते है बाकियो में नही .. ये देखिये PNB का एटीएम एक महीने से बन्द है और यहां का गार्ड परेशान है .. गार्ड ने बताया एक बार कैसेट चेंज करने आये चेंज नही हुए फिर आज तक ATM में पैसे आये ही नही पूरा एक महीना हो गया ..

PNB ATM बूथ गार्ड : प्रॉब्लम ये है जब से नॉट बदलने का सिस्टम शुरू हुआ . इसमें 500 और हजार का नॉट डलता था .. सौ का नॉट इसमें कभी नही डला . इसका सिस्टम चेंज करने आये थे चेंज नही हुआ वो कहने लगे दूसरा मिस्त्री आएगा कोई नही आया .. एक महीने से ऐसे ही बन्द है .. सुपर वाइजर आता है विजिट करके चला जाता ह*ै ..

यही हाल यहां के बैंक और बड़ोदा का है यहां गार्ड साहब इस एटीएम की रखवाली पर है और बता रहे है बीस दिन से पैसे नही आये .. लोग उससे पूछने आते है पर उन्हें पता ही नही क्या बताये ..

गार्ड — बैंक ऑफ़ बड़ौदा एटीएम बूथ : पन्द्रह दिन से पैसे नही है .. मशीन ठीक है .. पन्द्रह बीस दिन हो गए .. लोग आते है कब आएंगे कब आएंगे हमे क्या पता* ..

बख्तावरपुर का आईसीआईसीआई बैंक का एटीएम यहां का गार्ड काफी परेशान है .. इसकी जिम्मेदारी एटीएम की सेफ्टी की है इनका कहना है यहां एटीएम मशीन के कैसेट चेंज नही हुए न पैसे आ रहे है लोग आकर झगड़ा करते है गालिया देकर जाते है ..

गार्ड एटीएम बूथ ICICI :: इसमें प्रॉब्लम है एक महीने से केश नही .. इसमें बदला नही .. लोग गाली देकर चले जाते है। . मेरा icic का एटीएम है .. पहले भी बन्द पड़ा था कोई इंजीनियर नही आया ठीक करने* ..

यही हाल यहां के यूनियन बैंक के एटीएम का है यहां भी नोटबन्दी के बाद इस एटीएम को नोटदर्शन नही हुए ..

– राजीव एटीएम के पड़ोसी यूनियन बैंक एटीएम बूथ : जब नोटबन्दी हुई है कोई पैसा नही आया हम पड़ोस में रहते है लोग हमे भी आकर जगाते है .. कब आएगा पैसा* ..

कुल मिलाकर यदि एटीएम भी इस वक्त सही चलते तो लोगो को इतनी दिक्कते नही होती .. लेकिन असलियत में बैंक अपने एटीएम बूथों को सही से नही चला पा रहे है और यही एक वजह है कि बैंको में इतनी ज्यादा भीड़ है ..

शाहरूख खान कि फिल्म “रईस”जल्द हि रिलीज होने वाली है

शाहरूख खान कि फिल्म "रईस"जल्द हि रिलीज होने वाली है जिसमें पाकीस्तानी कलाकार है।जिस पाकीस्तान में हमारे १७ जवान मारें है।क्या आप खुद के २०० रुपये खर्च करके ये फिल्म देखना चाहोगे?😡😡😡
अगर नही, तो यह फिल्म कचरे के डिब्बे में जानी चाहीये ताकी कोई हरामी पाकीस्तानी कलाकरोंके साथ दुबारा फिल्म बनाने की,ना सोचे
अगर सचमुच कट्टर Indian हो तो ईस msg तो पुरे भारत में forward करो।👍🏽👍🏽👍🏽
जय हिंद

PMEGP NEW A FLOP SHOW, BANKS SANCTIONED ONLY 990 APPLICATIONS SO FAR @narendramodi @KalrajMishra @bewithrg

RAJESH SINGH – A SPECIAL REPORT

NEW DELHI : PRIME MINISTER’S EMPLOYMENT GENERATION PROGRAM – NEW – IS A COMPLETE FLOP SHOW SO FAR. TILL DATE  325428 ONLINE APPLICATIONS HAVE BEEN RECEIVED FOR CREDIT FACILITY FROM NEW MANUFACTURING AND SERVICES ENTERPRISES.

THIS PROGRAM WAS RE LAUNCHED FROM JULY 2016 AND ALL THE PREVIOUS YEARS APPLICANTS WERE SUGGESTED TO APPLY ONLINE THROUGH A NEWS PAPER ADVTS . THE SCHEME WELL DESIGNED FOR GENERATION OF EMPLOYMENT OPPORTUNITIES IN THE RURAL AND URBAN AREAS HAS BEEN A NON STARTER.

.NEW DELHI BANK BRANCH MANAGER SAYS POST DEMONETIZATION OTHER IMPORTANT FUNCTIONS INCLUDING LOAN SANCTIONS UNDER GOVT SCHEME HAVE TAKEN A BACKSEAT.

UNEMPLOYED YOUTH FROM SHAHDARA AREA WHO HAD SUBMITTED APPLICATION IN THE DECEMBER 2015 WAS ANGRY OVER THE FACT THAT INDIVIDUAL APPLICANT WAS NOT INFORMED ABOUT THE NEW DESIGN AND ALL APPLICATIONS OF PREVIOUS YEARS WERE CANCELLED.  NOW HE HAS APPLIED AFRESH IN OCTOBER 2016 AND WAITING FOR BANK APPROVAL.

PRIME MINISTER HAS BEEN MAKING HUE AND CRY ABOUT THE EMPLOYMENT OPPORTUNITIES , BUT THE MSME LED BY SENIOR BJP LEADER HAS NOT PAID DUE ATTENTION ON THE PROGRESS SCHEME IT APPEARS.