Monthly Archive: September 2017

दिल्लीवालों को हृदय संबंधित समस्याओं से निजात दिलाने के लिए हार्ट अटैक एप लॉन्च किया.

नई दिल्ली, 09 सितंबर 2017: कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (दिल्ली) ने दिल्लीवालों के लिए अपना पहला ऐप "हार्ट अटैक" लॉन्च किया है, जो की इस बीमारी से पीड़ित लोगों को सही जानकारी प्रदान करेगा और साथ ही आपातकालीन स्थिति में इस समस्या से उभरने में भी मददगार साबित होगा। इस ऐप को इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति आपातकालीन समय में अपने निकटतम अस्पतालों / चिकित्सक हृदय रोग विशेषज्ञों की जानकारी पा सकता है और साथ ही अपने लिए एक अच्छा अस्पताल भी चुन सकता है। यह ऐप आपको वर्तमान ट्रैफिक स्थिति के आधार पर वास्तविक यात्रा समय बताएगा। इसका लांच

हार्ट केयर ट्रीटमेंट के लिए सुनियोजित और सक्रिय तरीके से बुनियादी ढांचा बनाने के लिए बुलाई गई कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी द्वारा आयोजित एक पूर्ण दिवस संगोष्ठी के दौरान हुआ था । इसमे एम खलीलुआह, डॉ अशोक सेठ, हर्षवर्धन, शांतनु गुहा, विमल मेहता, थॉमस अलेक्जेंडर, रमेश बाबू , आरएस रामकृष्णन जैसे देश भर में प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञों ने भाग लिया।

सेमिनार मिड-टर्म दिल्ली सीएसआई 2017 के बारे में, एम्स से प्रोफेसर और कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ दिल्ली के सेक्रेटरी सन्दीप मिश्रा और दिल्ली शाखा के कार्डोलॉजी सोसायटी ऑफ दिल्ली के सेक्रेटरी ने कहा, "हार्ट अटैक और सेरेब्रोवास्कुलर रोग अब भारत में # 1 किलर हैं। हार्ट अटैक उच्च मृत्यु दर में शामिल हो चूका है जो की बहुत गंभीरता का विषय है। दिल के दौरे के दौरान कोरोनरी केयर यूनिटों और एंजियोप्लास्टी की स्थापना में मदद मिली है लेकिन यह महसूस किया गया है कि जब अधिकतम व्यवस्थित, सामान्य चिकित्सक, कुशल एम्बुलेंस सेवा और उन्नत हृदय केंद्र से व्यवस्थित, संगठित नेटवर्क होता है जो एंजियोप्लास्टी या दवा आधारित ( थ्रोम्बोलिसिस) अवरुद्ध धमनी का उद्घाटन! दिल का दौरा पड़ने वाले मामलों में यह नेटवर्क विशेष रूप से लाभकारी है इसके चलते दिल का दौरा पड़ने वाला व्यक्ति सही समय पर रोग हृदय केंद्र तक पहुंच सकता है जहां एंजियोप्लास्टी / थ्रोम्बोलिसिस की सुविधाएं मिलेंगी और अधिक तेजी से रोगी के हृदय की मांसपेशियों को स्थायी क्षति से बचाया जा सकता है! "

दिल्ली सीएसआई के अध्यक्ष डॉ हर्षवर्धन ने कहा, "इसके अलावा, दिल के दौरे वाले मरीजों की सहायता के लिए सीएसआई ने पहली बार" हार्ट अटैक ऐप "लॉन्च किया है। इसके अलावा दिल्ली सीएसआई एक हार्ट अटैक रजिस्ट्री भी लॉन्च किया जायेगा जिसमे यात्रा का समय और सुधार के तरीके बताये जाएंगे।

डॉ. महेश शर्मा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर ्तन राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार ग्रहण क रते हुए.

आज दिनांक ०४-०९-२०१७ को केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री, पृथ्वी विज्ञान और पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, डॉ। हर्षवर्धन, नई दिल्ली में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री डॉ महेश शर्मा को 04 सितंबर, 2017 को शुभकामनाएं देते हुए।

माननीय मंत्री डॉ। महेश शर्मा 4 सितंबर, 2017 को नई दिल्ली में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया के साथ बातचीत करते हुए|

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलत े कई इलाकों में हुआ जलभराव

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलते कई इलाकों में भारी जलभराव हो गया है, वहीं बारिश अब भी जारी है। ऐसे में कई जगहों पर जाम लगने की भी खबर है। भारी बारिश के चलते दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के ज्यादातर इलाकों और सड़कों पर पानी लगने के कारण भारी ट्रैफिक जाम हो गया है। इस भीषण ट्रैफिक जाम के चलते सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसके चलते पैदल यात्रियों को भी खासी दिक्कत पेश आ रही है।

वहीं, दूसरी ओर दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों तक लगातार बारिश होगी। इस दौरान अधिकतम तापमान में और कमी आएगी।

ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां हुई शुरू , बाज़ारों में बढ़ी रौनक

कुर्बानी का प्रतीक ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। दिल्ली-एनसीआर में बकरे की खरीद बढ़ गई है। 10 हजार से 60 हजार तक के बकरे बाजार में मौजूद हैं। जो बकरा दिखने में जितना बेहतरीन है उसकी कीमत उतनी ही अधिक है। इनमें तोतापरी के दाम सबसे अधिक हैं।

ईद-उल-अजहा का त्योहार दुनिया भर में मुसलमान कुर्बानी के तौर पर मनाते हैं। सुबह साढ़े आठ बजे नमाज अता करेंगे। इससे पहले सुबह सात बजे से बयान शुरू होगा। नमाज के बाद मुबारक होगी।

इस दौरान आपसी भाइचारे और सौहार्द का पैगाम आवाम को दिया जाएगा। साथ ही कुर्बानी के इस पर्व पर सभी को मुल्क को किसी भी तरह के खतरे से बचाने के लिए कुर्बानी देने का फरमान दिया जाएगा। मस्जिद के पास मार्केट सज गया है। खाने पीने के साथ, कपड़े आदि की दुकानों पर भीड़ जुटने लगी है। वहीं बकरों की खरीदारी भी जोरों से चल रही है।