Ten News Live

दिल्लीवालों को हृदय संबंधित समस्याओं से निजात दिलाने के लिए हार्ट अटैक एप लॉन्च किया.

नई दिल्ली, 09 सितंबर 2017: कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (दिल्ली) ने दिल्लीवालों के लिए अपना पहला ऐप "हार्ट अटैक" लॉन्च किया है, जो की इस बीमारी से पीड़ित लोगों को सही जानकारी प्रदान करेगा और साथ ही आपातकालीन स्थिति में इस समस्या से उभरने में भी मददगार साबित होगा। इस ऐप को इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति आपातकालीन समय में अपने निकटतम अस्पतालों / चिकित्सक हृदय रोग विशेषज्ञों की जानकारी पा सकता है और साथ ही अपने लिए एक अच्छा अस्पताल भी चुन सकता है। यह ऐप आपको वर्तमान ट्रैफिक स्थिति के आधार पर वास्तविक यात्रा समय बताएगा। इसका लांच

हार्ट केयर ट्रीटमेंट के लिए सुनियोजित और सक्रिय तरीके से बुनियादी ढांचा बनाने के लिए बुलाई गई कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी द्वारा आयोजित एक पूर्ण दिवस संगोष्ठी के दौरान हुआ था । इसमे एम खलीलुआह, डॉ अशोक सेठ, हर्षवर्धन, शांतनु गुहा, विमल मेहता, थॉमस अलेक्जेंडर, रमेश बाबू , आरएस रामकृष्णन जैसे देश भर में प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञों ने भाग लिया।

सेमिनार मिड-टर्म दिल्ली सीएसआई 2017 के बारे में, एम्स से प्रोफेसर और कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ दिल्ली के सेक्रेटरी सन्दीप मिश्रा और दिल्ली शाखा के कार्डोलॉजी सोसायटी ऑफ दिल्ली के सेक्रेटरी ने कहा, "हार्ट अटैक और सेरेब्रोवास्कुलर रोग अब भारत में # 1 किलर हैं। हार्ट अटैक उच्च मृत्यु दर में शामिल हो चूका है जो की बहुत गंभीरता का विषय है। दिल के दौरे के दौरान कोरोनरी केयर यूनिटों और एंजियोप्लास्टी की स्थापना में मदद मिली है लेकिन यह महसूस किया गया है कि जब अधिकतम व्यवस्थित, सामान्य चिकित्सक, कुशल एम्बुलेंस सेवा और उन्नत हृदय केंद्र से व्यवस्थित, संगठित नेटवर्क होता है जो एंजियोप्लास्टी या दवा आधारित ( थ्रोम्बोलिसिस) अवरुद्ध धमनी का उद्घाटन! दिल का दौरा पड़ने वाले मामलों में यह नेटवर्क विशेष रूप से लाभकारी है इसके चलते दिल का दौरा पड़ने वाला व्यक्ति सही समय पर रोग हृदय केंद्र तक पहुंच सकता है जहां एंजियोप्लास्टी / थ्रोम्बोलिसिस की सुविधाएं मिलेंगी और अधिक तेजी से रोगी के हृदय की मांसपेशियों को स्थायी क्षति से बचाया जा सकता है! "

दिल्ली सीएसआई के अध्यक्ष डॉ हर्षवर्धन ने कहा, "इसके अलावा, दिल के दौरे वाले मरीजों की सहायता के लिए सीएसआई ने पहली बार" हार्ट अटैक ऐप "लॉन्च किया है। इसके अलावा दिल्ली सीएसआई एक हार्ट अटैक रजिस्ट्री भी लॉन्च किया जायेगा जिसमे यात्रा का समय और सुधार के तरीके बताये जाएंगे।

डॉ. महेश शर्मा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर ्तन राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार ग्रहण क रते हुए.

आज दिनांक ०४-०९-२०१७ को केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री, पृथ्वी विज्ञान और पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, डॉ। हर्षवर्धन, नई दिल्ली में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री डॉ महेश शर्मा को 04 सितंबर, 2017 को शुभकामनाएं देते हुए।

माननीय मंत्री डॉ। महेश शर्मा 4 सितंबर, 2017 को नई दिल्ली में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया के साथ बातचीत करते हुए|

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलत े कई इलाकों में हुआ जलभराव

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलते कई इलाकों में भारी जलभराव हो गया है, वहीं बारिश अब भी जारी है। ऐसे में कई जगहों पर जाम लगने की भी खबर है। भारी बारिश के चलते दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के ज्यादातर इलाकों और सड़कों पर पानी लगने के कारण भारी ट्रैफिक जाम हो गया है। इस भीषण ट्रैफिक जाम के चलते सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसके चलते पैदल यात्रियों को भी खासी दिक्कत पेश आ रही है।

वहीं, दूसरी ओर दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों तक लगातार बारिश होगी। इस दौरान अधिकतम तापमान में और कमी आएगी।

ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां हुई शुरू , बाज़ारों में बढ़ी रौनक

कुर्बानी का प्रतीक ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। दिल्ली-एनसीआर में बकरे की खरीद बढ़ गई है। 10 हजार से 60 हजार तक के बकरे बाजार में मौजूद हैं। जो बकरा दिखने में जितना बेहतरीन है उसकी कीमत उतनी ही अधिक है। इनमें तोतापरी के दाम सबसे अधिक हैं।

ईद-उल-अजहा का त्योहार दुनिया भर में मुसलमान कुर्बानी के तौर पर मनाते हैं। सुबह साढ़े आठ बजे नमाज अता करेंगे। इससे पहले सुबह सात बजे से बयान शुरू होगा। नमाज के बाद मुबारक होगी।

इस दौरान आपसी भाइचारे और सौहार्द का पैगाम आवाम को दिया जाएगा। साथ ही कुर्बानी के इस पर्व पर सभी को मुल्क को किसी भी तरह के खतरे से बचाने के लिए कुर्बानी देने का फरमान दिया जाएगा। मस्जिद के पास मार्केट सज गया है। खाने पीने के साथ, कपड़े आदि की दुकानों पर भीड़ जुटने लगी है। वहीं बकरों की खरीदारी भी जोरों से चल रही है।

VERBIND Collaborates with Instaoffice for Developing Co-working Spaces, Business Centres

30th August 2017, VERBIND, India’s leading integrated trade facilitation company has joined hands with Instaoffice, a co-working and business center provider. Under the agreement, members of 13 World Trade Center (WTC) which is managed by Verbind will get access to Instaoffice business centers at discounted rates; the agreement also gives access to Instaoffice to develop business centers in 13 WTCs managed by Verbind.

Ms. Khair-Ull-Nissa Sheikh, Executive Director of VERBIND & World Trade Center Noida commenting on the agreement said, “The agreement with Instaoffice will help in providing access to world class infrastructure to startups and SMEs and VERBIND through its extensive trade and business services will assist in their expansion along with acquainting them with global best practices and benchmarks.”

VERBIND is an integrated Trade Facilitation and Business Management Services which focuses on the versatility of every component for trade services, investments and infrastructure. It enables various services and tailor-made solutions, through multiple empanelled partners for entrepreneurs and businesses, facilitate new ventures and international trade. Acting as a bonding agent, it unifies corporations, associations, chambers, professionals, and government agencies operating in business trade both in Indian and international markets.

Mr. Vikas Lakhani, Co-founder of InstaOffice, expressing his views on the agreement said that “InstaOffice and VERBIND are building an ecosystem together. There are great synergies between VERBIND and InstaOffice with both working towards a common goal of facilitating ease of business.”

VERBIND being a business catalyst will also endeavor to provide access to money, market and mentorship to the businesses operating in the business centres and also catering to their strategic, tactical and operational requirements.

Devendra Agarwal, co-founder, Instaoffice said, “The partnership with VERBIND will help InstaOffice establish its footprint across different WTC locations in multiple cities across the country where VERBIND is offering its services, allowing InstaOffice to meet its clients’ requirement of providing the best office space in the prime locations of the most business cities of the country at an affordable cost.”

Press Release: Kings Learning raises US$ 2.5 million in a funding round led by Michael & Susan Dell Foundation

Edtech startup Kings Learning raises US$ 2.5 million in a funding round led by Michael & Susan Dell Foundation

NEW DELHI – August 31, 2017 – Kings Learning, a technology-driven spoken English learning startup, has raised US$ 2.5 million in funding from Michael & Susan Dell Foundation, together with other US based tech investors. The organization aims to address the employability issue in India amongst underserved youth owing to poor English language and communication skills, through offline, online and blended delivery channels.

Enguru, Kings Learning’s mobile-based spoken English app, allows users to self-learn both general spoken English and employability-focused conversational English. It also allows users to learn English in their native language and currently supports 28 different languages. The app has been downloaded about 2 million times till date, and is currently being used to improve spoken English skills by more than 120,000 active users monthly. The app’s platform is adaptive and gamified with real time assessments, which makes it easier for not just individuals but also corporates to use it for their employee training modules.

Mr. Arshan Vakil, Co-Founder and CEO, Kings Learning, said, “Our goal is to leverage innovative technology and creative content to deliver high quality and engaging English education to all. We are excited to partner with our investors as we move into the next phase of our growth which will primarily be focused on scaling up our offerings like Enguru, strengthening our technology and analytics engine and expanding the Kings Learning team.”

Ms. Prachi Windlass, Education Director, India, Michael & Susan Dell Foundation, said, “English has become a ticket to enter the booming knowledge-driven job economy of India, however, few have access to quality English language training. Almost half of the graduates in India, primarily from underprivileged backgrounds, are considered unemployable in most of the sectors due to lack of spoken English skills. Thankfully, mobile internet explosion, supplemented by exemplary work undertaken by technology-driven organizations like Kings Learning, is helping address this problem. We are excited to support Kings Learning’s efforts in their journey ahead.”

About Kings Learning

Founded in 2014, Kings Learning is an edtech startup aimed at providing employability focused English language & communication skills training through technology products. For more information, visit www.enguruapp.com/ and http://kingslearning.in/

About the Michael & Susan Dell Foundation

Founded in 1999, the central mission of Michael & Susan Dell Foundation is transforming the lives of children living in urban poverty through better education, family economic stability and health. Since 2006, the Michael & Susan Dell Foundation has invested more than INR 1,100 crores in non-profits and social enterprises in India. More information about MSDF is available at www.msdf.org.

For more information, please contact:

Pallavi Sharma / Kaustav Guha

9650258707 / 9831690977

pallavis / kaustavg

Warm Regards,

Pallavi Sharma

cohn&wolfe | 6 Degrees

O: 011 43898929 | M: +91 9650258707

CONFIDENTIALITY NOTE

This e-mail message and any attachments are only for the use of the intended recipient and may contain information that is privileged, confidential or exempt from disclosure under applicable law. If you are not the intended recipient, any disclosure, distribution or other use of this e-mail message or attachments is prohibited. If you have received this e-mail message in error, please delete and notify the sender immediately. Any opinions expressed in this email (including attachments) are those of the author and do not necessarily reflect our opinions. We do not warrant the accuracy or completeness of such information. Thank you.

Please consider the environment before you decide to print this email

रामपाल दो केस में बरी पर अभी नहीं आयेंगे जे ल से बाहर, जानें वजह !

हरियाणा के बरवाला स्थित सतलोक आश्रम संचालक रामपाल के खिलाफ दो केसों में सुनवाई के बाद हिसार कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया है. FIR नंबर 426 और 427 के तहत दर्ज केस पर जज मुकेश कुमार सुनवाई के बाद उन्हें बरी कर दिया. हिसार सेंट्रल जेल नंबर-1 से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रामपाल ने इस कार्यवाही में हिस्सा लिया. इस फैसले के मद्देनजर हिसार में धारा 144 लागू कर दी गई थी. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किेए गए थे. हिसार शहर की सीमाएं सील कर दी गई थीं.

इन धाराओं में मुकदमा हुआ था दर्ज

रामपाल के खिलाफ दर्ज FIR नंबर 201, 426, 427 और 443 के तहत पेशी हुई थी. कोर्ट ने FIR नंबर 426 और 427 का फैसला सुरक्षित रख लिया था. रामपाल पर FIR नंबर 426 में सरकारी कार्य में बाधा डालने और 427 में आश्रम में जबरन लोगों को बंधक बनाने का केस दर्ज है. FIR नंबर 426 IPC की धारा 323 (1 साल कैद), धारा 353 (3 साल कैद), धारा 186 (3 साल कैद) और धारा 426 (3 माह कैद) के तहत दर्ज है. वहीं, FIR नंबर 427 धारा 147 (1 साल कैद), धारा 149, धारा 188 और धारा 342 के तहत दर्ज है.